Home /सबूत /मानवाधिकार संगठन के अंतर्राष्ट्रीय धोषणा का पहली धाय /सब लोग बराबर है

सब लोग बराबर है


सारे मानव मान और अधिकार का बराबर हख रखते हुए स्वतंत्र जन्म लेते है। उन्हे बुध्दि और अंतःकरण प्राप्त होती है, और उनपर ये जरुरी है कि वह आपस में एक-दूसरे से भाई चारगी के साथ व्यवहार करें।