Home /प्रसन्नता का मार्ग /ब्रह्माण्ड मानव बुध्दिमत्ता, सम्मान और लक्ष्य का प्रजापति है। /मानव की सृष्टि करना और उसको सम्मान देना।

मानव की सृष्टि करना और उसको सम्मान देना।