img_alt6

हारबर्ट र्जाजविल्स

quotes:
  • हज्जतुल विदा (मुहम्मद का अंतिम हज्ज) से मिलने वाले उपदेश
  • मुहम्मद ने अपने मृत्यु से एक वर्ष पहले मदीने से मक्का की ओर यात्रा करते हुए हज्जतुल विदा किया। उस समय आपने अपनी ख़ौम के सामने महत्वपूर्ण भाषण दिया। इस भाषण का पहले वाक्य के सामने मुसलमानों के बीच स्थिर अन्याय, भेद-भाव, और हत्याचार दब जाता है। इस भाषण के अंतिम वाक्य नीग्रो मुस्लिम को राजा के समान मानता है। निश्चिंत रूप से इस भाषण ने संसार में सम्मान जनिक और न्याय पर आधारित व्यवहार के महान नियमों की स्थापना की है।


  • इस्लाम र्धम का सवेरा
  • कितनी ऐसी पीडियाँ है, जो महान इस्लाम र्धम को सवेरा होने से पहले पहले अप्रसन्नता और डर से पीडित होंगी। (इस्लाम वह महान र्धम है जिसके प्रती यह लगता है कि सारा इतिहास उसी के इर्द गिर्द घूमता है) उस दिन सारा संसार शाँत जनक हो जायेगा और उस दिन सारे मनों में सुख भर जायेगा ।


  • उच्च प्राणाली
  • निशचित रूप से इस्लाम ने साम्राज्य संभाला है, क्यों कि वह सामाजिक और राजनीतिक ऐसा उच्च प्रणाली है जिस्को संसार प्रस्तुत करसका है। इस्लाम फ़ैल चुका है क्यों कि वह हर ओर राजनीती की समझ न रखने वाले लोग देखता था । जिनका धन लुट लिया जाता था, उनके साथ अन्याय किया जाता था, डराया जाता था, ज्ञान से दूर रखा जाता था, और उनके जीवन में कोई अयोजन नही था। इसी प्रकार से इस्लाम ने ऐसी स्वार्थी सरकारें देखा, जिस में सरकार और जनता के बीच कोई संबंध ही नही था। परन्तु इस्लाम नया और पवित्र राजनीतिक विचार रखने वाला धर्म था, जो उस काल में भी संसार के भीतर वास्तविक गती-विधी की विशेषता रहा। इस्लाम किसी भी प्रणाली से मानव को अधिक सर्वश्रेष्ट प्रणाली उपलब्ध करता है। रोमन साम्राज्य में कम्यूनिज़म की ग़ुलामी पर आधारित प्रणाली, पश्चिम में चरित्र, सभ्यता और सामाजिक परंपरा पूर्ण रूप से विघटित हो चुकी थी, और इस्लाम के आने से पहले समाप्त हो चुकी थी ।



Related Posts


Subscribe