सारे लोगों का धर्म
दो आयतें (वाक्य) 1.दीन(धर्म) तो ईशवर की दृष्टी में इस्लाम ही है। (आले इमरान, 19), 2. हमने तो तुम्हें सारे ही मनुष्यों को शुभ-सूचना देनेवाला और सावधान करनेवाला बनाकर भेजा (सबा-28)। यह दोनों महान आयतें मेरे मन में गहरा असर छोड़ा है। इसलिए कि इन में उस वैक्षिक छवी का परिमाण है, जिस्से इस्लाम धर्म पहचाना जाता है। इस के अतरिक्त इस्लाम की और भी विशेषताएँ है, जैसे नियम, आदेश और हमारे नबी ईसा के प्रती इस्लाम का विवरण। क्या सारे नबी और रसूलों द्वारा लाए हुए हर संदेश का सम्मान देने का आदेश देनेवाली इन महान शिक्षाओं से अधिकतर सत्य और शक्तिमान कोई और शिक्षा है। निस्संदेह इस्लाम धर्म सत्य, सच्चाई और प्रमाण का धर्म है।

Related Posts


Subscribe