साफ-साफ अरबी भाषा में
पवित्र ख़ुरआन के इन महत्वपूर्ण अध्यायों में मुहम्मद (स) ने जिन संकेतों का वर्णन किया है, उनके सामने मानवता के सारे महान पंडितों का कोई स्थान नही रहता, जैसे की हम तक पहुँचने वाली मन-घडत हदीसों को संकेतों के सामने रखने से पता चलता है।

Related Posts


Subscribe