सच्छी शरियत
मुझे यह समझ में आगया.... मैं यह अनुभुती प्राप्त किया... मानवता को आसमानी शरियत की ज़रुरत है जो सच को प्रस्तुत करे और गलत को मिटादे।

Subscribe