सच्छी शरियत
मुझे यह समझ में आगया.... मैं यह अनुभुती प्राप्त किया... मानवता को आसमानी शरियत की ज़रुरत है जो सच को प्रस्तुत करे और गलत को मिटादे।

Related Posts


Subscribe