नैतिकता के नियम
ख़ुरआन में नैतिकता के नियम उच्च है ख़ुरआन के आभारी समूहों के चरित्र बदलते समय के साथ बिल्कुल ईसाइ धर्म के अनुयायी समूहों के समान बदल गए। अधिकतर महात्वपूर्ण परिणाम यह है कि ख़ुरआन अपने आदेशों का अनुसरण करने वाले समूहों पर प्रभावित है। इस्लाम के समान दूसरे धर्मों के लोगों के दिलों पर बहुत ही कम प्रभाव है। किन्तु आप कोई ऐसा धर्म नही पायेंगे, जो इस्लाम के प्रकार सदा प्रभावी रहा हो। ख़ुरआन पुरब के जीवन का महत्वपूर्ण अंग है। जीवन के छोटे से छोटे भाग में इसका प्रभाव दिखता है।

Related Posts


Subscribe