चरित्र सुकून है
मेरी जानकारी के अनुसार नैतिक अधिनियम वह है जिसके संपन्न हने के बाद आंतरिक सुकून प्राप्त हो। और अनैतिक अधिनियम वह है जिसके संपन्न होने के बाद आंतरिक बेचैनी प्राप्त हो।

Related Posts


Subscribe