ख़ुरआन और आधुनिक विज्ञान एक पल्ले में
मैंने खुरआन को पढ़ा है, पढ़ने से पहले मेरे मस्तिष्क में इसके बारे में किसी प्रकार का पूर्व ज्ञान नही था, और पूरे वस्तु निष्ठता से मैंने उसे पढ़ा, मेरा लक्ष्य यह था कि ख़ुरआन के संदेश और आधुनिक विज्ञान के बीच समानता के स्थर की खोज करूँ, तो मुझे यह ज्ञान प्राप्त हुआ की आधुनिक विज्ञान की दृष्टिकोण से ख़ुरआन का एक संदेश भी आलोचना का अवसर नही रखता ।

Related Posts


Subscribe